Header Ads

The home of Gargi, Maitrey, and Kapila was at | गार्गी, मैत्रेय और कपिला का घर था|(SSC Section Officer (Audit) Exam. year 1997 )

The home of Gargi, Maitrey, and Kapila was at

(1) Vidisha (2) Ujjain
(3) Pataliputra (4) Mithila
(SSC Section Officer (Audit) Exam. year 1997 )

गार्गी, मैत्रेय और कपिला का घर था
(१) विदिशा (२) उज्जैन
(३) पाटलिपुत्र (४) मिथिला
(एसएससी अनुभाग अधिकारी (ऑडिट) परीक्षा। वर्ष 1997)



Answer- 2. (4) The name ‘Mithila‘ goes back to Puranic times. It occurs in the Mahabharata and in Pali literature. According to the Puranic tradition the name has been derived from that of Mithi (son of Nimi) King of Ayodhya and grandson of Manu who founded a kingdom which was called Mithila after him. It is associated with Valmiki, Ashtavakra, Yajnavalkya, Udayana, Mahavira, Kanada, Jaimini and Kapila as well as the women philosophers, such as, Gargi, Maitreyi, Bharati and Katyayani. After the era of the Ramayana it is,said that the three seats of culture in Vedic period - Kosala, Kasi and Videha - merged to form the Vajjians confederacy and the centre of political gravity shifted from Mithila to Vaishali.

उत्तर- २ (४) ‘मिथिला’ नाम पुराण काल में आता है। यह महाभारत और पाली साहित्य में होता है। अनुसार पुराण परंपरा का नाम रहा है जो मीठी (निमि का पुत्र) अयोध्या का राजा था और मनु के पोते जिन्होंने एक राज्य की स्थापना की जिसे उनके बाद मिथिला कहा जाता था। यह जुड़ा हुआ है वाल्मीकि, अष्टावक्र, याज्ञवल्क्य, उदयन के साथ, महावीर, कणाद, जैमिनी और कपिला साथ ही साथ गार्गी, मैत्रेयी, भारती जैसे महिला दार्शनिक और कात्यायनी। रामायण के युग के बाद यह है कहा कि वैदिक काल में संस्कृति की तीन सीटें - कोसल, कासी और विदेह - का विलय होकर वज्जियों का निर्माण हुआ आत्मविश्वास और राजनीतिक गंभीरता का केंद्र बदल गया मिथिला से वैशाली तक। 

Post a Comment

0 Comments