Header Ads

CISF exam के लिए प्रमुख मुहावरे (muhawre) और उनके अर्थ

CISF exam के लिए प्रमुख मुहावरे (muhawre) और उनके अर्थ 

  • अंक भरना – स्नेह से लिपटा लेना 
  • अंग टूटना – थकान से दर्द होना
  • अंगार बनना – लाल होना या क्रुद्ध होना
  • अंगारों पर पैर रखना – जानबूझकर हानिकारक काम करना
  • अंगारों पर लोटना – दुःख सहना
  • अंगूठा दिखाना – वक्त पर घोखा देना
  • अंचरा पसारना – याचना करना या माँगना
  • अण्टी मारना – चाल चलना
  • अण्ड-वण्ड कहना – भला बुरा कहना
  • अंधाधुंध लुटाना – बिना विचारे खर्च करना
  • अँधा बनना – आगे पीछे कुछ न देखना
  • अँधा बनाना – धोखा देना
  • अँधा होना – विवेक भ्रष्ट हो जाना
  • अंधे की लकड़ी – एक ही सहारा होना
  • अंधेर खाता – अन्याय
  • अंधेरनगरी – ऐसी जगह जहाँ धांधली का बोलबाला हो
  • अक्ल पर पत्थर पड़ना – बुद्धि भ्रष्ट होना
  • अक्ल की दुम – अपने को बड़ा होशियार समझने वाला
  • अगले ज़माने का आदमी – सीधा सादा या ईमानदार
  • अड़ियल टट्टू – अटक अटक कर या मुँह जोहकर काम करने वाला
  • अढ़ाई दिन की हुकूमत – कुछ दिनों की शानोशौकत
  • अन्न जल उठना – रहने का संयोग न होना या मर जाना
  • अन्न लगना – स्वस्थ्य रहना
  • अपना उल्लू सीधा करना – अपना काम निकालना
  • अपना किया पाना – कर्म  भोगना
  • अपना सा मुँह लेकर रह जाना – शर्मिंदा होना
  • अपनी खिचड़ी अलग पकाना – अलग रहना या स्वार्थी होना
  • अपने पाँव आप कुल्हाड़ी मारना – संकट मोल लेना
  • अपने पैरों खड़ा होना – स्वावलम्बी होना
  • अपने मुँह मिया मिट्ठू होना – अपनी तारीफ खुद करना
  • अब-तब करना – बहाना करना
  • अब-तब होना – परेशां करना या मरने के करीब होना
  • आँच न आने देना – जरा भी कष्ट न होने देना
  • आठ-आठ आँसू रोना – बुरी तरह पछताना
  • आसान डोलना – विचलित या लुब्ध होना
  • आस्तीन का साँप – कपटी मित्र
  • आसमान टूट पड़ना – बहुत बड़ा संकट पड़ना
  • आँखें खुलना – होश आना या सावधान होना
  • आँखें चार होना – आमने सामने होना
  • आँखें मूंदना – मर जाना
  • आँखों में खून उतरना – अधिक क्रोध करना
  • आँखों में गड़ना –  की उत्कष्ट लालसा
  • आँखें फेर लेना – उदासीन होना
  • आँख मारना – इशारा करना
  • आँखों में धूल झोकना – धोखा देना
  • आँखें बिछाना – प्रेम से स्वागत करना
  • आँखों का काँटा होना – शत्रु होना
  • ईंट का जबाब पत्थर से देना – किसी की दुष्टता का करारा जबाब देना
  • ईद का चाँद होना – बहुत दिनों बाद दिखाई देना
  • उगल देना – गुप्त बात प्रकट कर देना
  • उठा न रखना – कसर न छोड़ना
  • उलटी गंगा बहाना – प्रतिकूल कार्य
  • उड़ती चिड़िया पहचानना – मन की या रहस्य की बात ताड़ना
  • उन्नीस बीस होना – मामूली फर्क
  • एक आँख से देखना – बराबर मानना
  • एक लाठी से सबको हाँकना – बिना उचित अनुचित का विचार किये व्यव्हार करना
  • कल पड़ना – तसल्ली मिल जाना
  • किरकिरा होना – विघ्न आना
  • किस मर्ज की दवा – किस काम के
  • कोसों दूर भागना – बहुत अलग रहना
  • कलेजे पर सांप लोटना – कुढ़ना
  • कलेजा ठंडा होना – संतोष होना
  • कागजी घोड़े दौड़ाना – केवल लिखा पढ़ी करना
  • कुत्ते की मौत मरना – बुरी तरह मरना
  • किताबी कीड़ा होना – पढ़ने के सिवाय कुछ न करना
  • कलम तोड़ना – बढ़िया लिखना
  • काँटा निकलना – बढ़ा दूर होना
  • कागज काला करना – बिना मतलब के कुछ लिखना
  • किस खेत की मूली – शक्तिहीन या अधिकारहीन होना
  • कुँआ खोदना – हानि पहुँचाने के यत्न करना
  • खरी-खोटी सुनाना – भला बुरा कहना
  • खरी-खरी सुनाना – कटु सत्य कहना
  • खेत आना या खेत रहना – वीरगति को प्राप्त होना
  • खून पसीना एक करना – कठिन परिश्रम करना
  • खटाई में पड़ना – रुक जाना या झमेले में पड़ना
  • खाक छानना – भटकना
  • खेल खेलना – परेशान करना
  • गाल बजाना – डींग हाँकना
  • गिन गिनकर पैर रखना – सुस्त  हद से ज्यादा सावधानी वरतना
  • गुस्सा पीना – क्रोध को दबा लेना
  • गला छूटना – पिण्ड छूटना
  • गूलर का फूल होना – लापता होना
  • गड़े मुर्दे उखाड़ना – दबी हुयी बात को फिर से उठाना
  • गाँठ का पूरा – मालदार
  • गाँठ में बाँधना – खूब याद रखना या अच्छे से याद रखना
  • गुदड़ी का लाल – गरीब के घर गुणवान उत्पन्न होना
  • घोड़े बेचकर सोना – बेफिक्र होना
  • घड़ों पानी पड़ जाना – अत्यंत लज्जित होना
  • घी के दीप जलाना – अप्रत्याशित लाभ पर प्रसन्नता
  • घर बसाना – विवाह करना
  • घर का न घाट का – कहीं का न होना
  • घात लगाना – मौका ताकना
  • चल बसना – मर जाना
  • चार दिन की चाँदनी – थोड़े दिन का सुख
  • चींटी के पर निकलना या जमना – विनाश के लक्षण प्रकट होना
  • चूं न करना – सह जाना या जबाब न देना
  • चण्डूखाने की गप – बहकी/बेतुकी बातें करना
  • चादर से बाहर पाँव पसारना – आय से अधिक खर्च करना
  • चाँद पर थूकना – सम्माननीय का अनादर या व्यर्थ निंदा करना
  • चिराग तले अँधेरा – पंडित के घर घोर मूर्खता का आचरण
  • चूड़ियां पहनना – स्त्री की तरह असमर्थता व्यक्त करना
  • चेहरे पे हवाइयां उड़ना – डर जाना
  • छप्पर फाड़कर देना – बिना परिश्रम के संपन्न हो जाना
  • छक्के छूटना – बुरी तरह पराजित होना
  • जल भुनकर पागल हो जाना – क्रोध से पागल होना
  • जहर उगलना – अपमानजनक बातें कहना
  • जीती मक्खी निगलना – जानबूझकर अशोभन या अभद्र कार्य करना
  • जूते चाटना – चापलूसी करना
  • जमीन पर पैर न रखना – अधिक घमंडी होना
  • जान पर खेलना – साहसिक कार्य
  • टका सा मुँह लेकर रहना – शर्मिंदा होना
  • टट्टी की ओट शिकार खेलना – छिपे तौर पर किसी के विरुद्ध कुछ करना
  • टाट उलटना – दिवाला निकलना
  • तूती बोलना – प्रभाव जमाना
  • तोते की तरह आँखें फेरना – बेमुरव्वत होना
  • तीन तरह होना – तितर बितर होना
  • टिल का ताड़ करना – बातों को तूल देना
  • दौड़ धूप करना – बड़ी कोशिश करना
  • दो कौड़ी का आदमी – तुच्छ या अविश्वसनीय आदमी
  • दिन दूना रात चौगुनी – खूब उन्नति करना
  • दो टूक बात कहना – स्पष्ट कह देना
  • दो दिन का मेहमान – जल्द मरने वाला
  • दूध के दांत न टूटना – अनुभवहीन या अज्ञानी होना
  • धज्जियाँ उड़ाना – किसी के दोषों को चुन चुन कर गिनना
  • निन्यानबे का फेर – धन जोड़ने का बुरा लालच
  • नौ दो ग्यारह होना – चम्पत होना या भाग जाना
  • न इधर का न उधर का – कहीं का नहीं
  • नाच नचाना – तंग करना
  • पेट में चूहे कूदना – बहुत जोरो की भूख लगना
  • पट्टी पढ़ाना – बुरी राय देना
  • पहाड़ टूट पड़ना – घोर विपत्ति आ पड़ना
  • पौ बारह होना – खूब लाभ होना
  • पांचों उँगलियाँ घी में – पुरे लाभ में
  • पगड़ी रखना – इज्जत बचाना
  • फूलना-फलना – कुलवान या धनवान होना
  • बरस पड़ना – किसी पर गुस्सा निकलना
  • बाँसों उछलना – बहुत ख़ुशी
  • बाजी मारना – जीतना या आगे निकल जाना
  • बट्टा लगाना – कलंक लगाना
  • बाजार गर्म होना – काम में तेजी
  • बाँछे खिलना – अत्यधिक प्रसन्न होना
  • भाड़े का टट्टू – पैसे का गुलाम
  • भीगी बिल्ली बनना – दबना याडर से दुबकना
  • मक्खियाँ मारना – बेकार बैठे रहना
  • मैदान मारना – लड़ाई जीतना
  • मोटा असामी – मालदार
  • मुट्ठी गर्म करना – घूस देना
  • रंग जमाना – धाक जमाना
  • रंग लाना – प्रभाव उत्पन्न करना
  • रंग बदलना – परिवर्तित होना
  • रास्ता देखना – इंतजार करना
  • रोंगटे खड़े होना – चकित या भयभीत होना
  • लकीर का फ़कीर होना – पुरानी प्रथाओं पर ही चलना
  • लोहा मानना – श्रेष्ठ समझना
  • लेने के देने पड़ना – लाभ के बदले हानि होना
  • श्रीगणेश करना – शुभारम्भ करना
  • सफ़ेद झूठ – सरासर झूठ
  • सार्ड हो जाना – डरना या मरना
  • सांप-छछूंदर की हालत होना – दुविधा में पड़ना
  • सिक्का जमाना – प्रभाव जमना
  • सवा सोलह आने सही – पूरी तरह सही होना
  • हाथ मलना – पछताना
  • हवा हो जाना – भाग जाना
  • हवा का रुख देखना – समय की गति पहचान कर काम करना
  • हुक्का पानी बंद करना – बिरादरी से निकाल देना
  • हथेली पर सरसों जमाना – जल्दबाजी करना
  • हाथ धो बैठना – गवा देना हाथ पीले करना
  • हाथ पैर मारना – काफी प्रयत्न करना
  • हाथ के तोते उड़ना – स्तब्ध होना
  • हथियार डाल देना – हार मान लेना

Post a Comment

0 Comments